(2 अप्रैल 2018 भारत बन्द ) sc/st भारत बन्द

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ दलित वाल्मीकि/चमार समाज एक होकर अपनी एकता का परिचय दे
कश्मीर से कन्या कुमारी तक हम एक है ।आवाज दो हम एक है ।सभी छोटे बङे भाई बहनो
से गुजारिश है कि सुप्रीम कोर्ट ने जो आदेश जारी किया वह सबिंधान के खिलाफ दिया गया है ।
हमे कोई चुङा, चमार भंगी जमादार जाति सुचक शब्द कहे उसकी गिरफ्तारी पर रोक ।
जो कानून देश आजाद भारत होने के समय से बना था ।यह सबिंधान को तोड़ने की साजिश
और शुरुआत हुई है । आदरणीय सभी दलित वाल्मीकि / चमार (sc/st )समाज अपनी राष्ट्रीय एकता का परिचय दे ।
कोई भी सरकारी प्राईवेट कर्मचारी नगर निगम, अस्पताल, बैंक किसी प्रकार के ओफिस प्राईवेट कार्यालय
स्कुल कालेज युनिवर्सिटी कम्पनी, नर्सिग होम स्कुल सरकारी प्राईवेट दुकान, माल, वर्कशॉप
किसी प्रकार के कार्य स्थल सभी धार्मिक, समाजिक संस्था व संगठन पार्टी एक दिन की हड़ताल है ।
2 अप्रेल 2018 भारत बन्द आज हमारे लाखो युवा बेरोजगार है। ठेकेदार प्रथा दलित वाल्मीक/चमार समाज का
शोषण हो रहा है। कोई सुनता नही कोई देखने वाला नही है । (अपने देश मे गुलाम ) भारत देश विकास कर रहा है। अमेरिका, चीन, जापान रुस को पिछे छोङ रहा है । लेकिन शुरुआत दलित वाल्मीकि / चमार समाज के शोषण के साथ शुरुआत करके । सुप्रीम कोर्ट से सवाल लङकियो के बलात्कार के के ऊपर कोई आदेश क्यो नही दिया आज तक
लङकियो की हत्या हत्याकांड गेंगरेप, दलित शोषण हुआ कहा चला जाता है। सुप्रीम कोर्ट जय भीम जय भारत
131 दलित सांसद,543 दलित विधायक,01 दलित राष्ट्रपति।फिर भी एस.सी,एस.टी एक्ट में बदलाव !!
अभिषेक झंगाला
महासचिव पुर्वी दिल्ली लोक सभा युथ कांग्रेस.
+919210123492

Leave a Comment